महाकार्टून “महा कार्टून”

महाकार्टून एक वेबसाइट या प्लेटफार्म है जिसमें कोई विश्वसनीय स्रोत नहीं है। हम केवल हास्य,व्यंग्य,कटाक्ष (humour,vyangya,hindi satire)आदि के रूप में आपका ध्यान आकर्षित करने के लिए काल्पनिक खबरें बनाते हैं।हमारा लक्ष्य काल्पनिक समाचार रिपोर्टों के आकार में हास्य,व्यंग्य ,कटाक्ष प्रदान करना है।

महाकार्टून एक समाचार व्यंग्य वेबसाइट (hindi news satire in hindi,funny articles in hindi) या प्लेटफार्म है और हमारा इरादा किसी की भावनाओं को आहत करने या अफवाहें फैलाने या किसी (व्यक्ति, संगठन या एक विचार) को जीवित या मृत घोषित करने का नहीं है।यदि यह सब ऐसा प्रतीत होता है, तो यह या तो पूरी तरह से अनजाने में है या किसी के द्वारा गलत तरीके से व्याख्या की गई है।

हाकार्टून पर दी गई सारी सामग्री केवल कपोल कल्पना है।इसका वास्तविकता से कोई संबंध नहीं है।पाठकों को सलाह है कि वे इसे असली न्यूज या सत्य घटनाएं न मानें।

कुछ न्यूज ,हास्य,व्यंग्य,कटाक्ष में सार्वजनिक हस्तियों के नाम और उनके पदनामों का इस्तेमाल किया गया है ताकि हमारे पाठक तक बात सही ढंग से पहुंच सके। हमारा मकसद इन सार्वजनिक हस्तियों या उनके पदों की अवमानना करना कतई नहीं है।

सार्वजनिक हस्तियों के अलावा आलेखों में इस्तेमाल किए गए नाम भी काल्पनिक हैं और यदि वास्तव में किसी व्यक्ति या संस्था का नाम उससे मिलता है तो यह केवल संयोग हो सकता है।

आपको सलाह दी जाती है कि यदि आप समाचार व्यंग्य (news satire),व्यंग्य ,हास्य,व्यंग्य,कटाक्ष के विचार से बहुत सहज नहीं हैं तो इस वेबसाइट की सामग्री को न पढ़ें।

हिंदी के प्रति प्यार और आम जीवन और रोजाना समाचार न्यूज़ में आने वाले मुद्दों में व्यंग देखने की आदत ने इस वेबसाइट को चालू करने के लिए प्रेरित किया है।हमारी कोशिश होगी की हम पाठको तक पॉलिटिकल सटायर (political satire),राजनीतिक व्यंग ,राजनीतिक कटाक्ष,सोशल सटायर की ताज़ा ख़बर, सोशल सटायर,व्यंग पंहुचा सके .

हम व्यंग(vyangya) खबर,व्यंग विचार(satire),सटायर न्यूज़,ट्विटर व्यंग्य ,चुनावी व्यंग्य ,समाज पर व्यंग्य,व्यंग्य वाक्य,सोशल व्यंग,सोशल कटाक्ष(social satire),सोशल व्यंग्य ,समाज पर व्यंग्य,व्यंग विचार,लघु हास्य व्यंग्य,हास्य बातें,राजनितिक व्यंग (political satire),राजनितिक हास्य,बॉलीवुड व्यंग (bollywood satire),खेल कूद व्यंग,खेल व्यंग(sports satire),बॉलीवुड व्यंग,सिनेमा व्यंग तीखे व्यंग,जैसे विषयो को लेकर उसपर कहानिया गढ़ते हैं और पाठको को मनोरंजन देने की कोशिश करते हैं. यह ज्ञान बढ़ने की वेबसाइट नहीं है ,पुरानी खबरों पे नयी कहानियो की एक पहल है

विभिन्न कहानियों और पात्रों के द्वारा समाज में चल रहे जीवन के मुद्दों पर व्यंग रचना करने की कोशिश है.समाचारों पर व्यंग बनाने से आप समाज के मुद्दों को उठा पाते हैं. इसी कोशिश में यह एक पहल है।

मजाक,चुटीली बात,ताना,निंदालेख व्यंगपूर्ण बात को लिखते समय कई बार ऐसी कड़वी या तीखी बातें भी लिख दी जाती हैं, जिससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुंच सकती है। हालांकि महाकार्टून प्लेटफार्म का मकसद ऐसा कतई नहीं है, फिर भी यदि किसी की भावनाएं आहत होती हैं, तो हमें इसका खेद है।

कुछ अवसरों पर, वास्तविक घटनाओं और व्यक्तित्वों को आसानी से संदेश देने में मदद करने के लिए ऐसी नकली समाचार रिपोर्टों का एक हिस्सा हो सकता है।आपको सलाह दी जाती है कि महाकार्टून की खबरों की शाब्दिक सामग्री को वास्तविक और सत्य मानकर भ्रमित न करें।

महाकार्टून अपनी “समाचार रिपोर्टों” में लोगों के काल्पनिक नामों का उपयोग करता है.काल्पनिक नामों के वास्तविक दुनिया में वास्तविक नाम होने की पूरी संभावना है, लेकिन महाकार्टून द्वारा उनका उपयोग पूरी तरह से संयोग है और इसका उद्देश्य उस व्यक्ति ,विचार,और / या संगठन पर व्यंग्य करना या उसका मजाक उड़ाना नहीं है।

शिकायत निवारण: हमारा मकसद अफवाह फैलाना भी नहीं है। महाकार्टून के संचालकों की देश के कानूनों, लोकतंत्र और संसद में गहन आस्था है।यदि आप अभी भी हास्य, व्यंग्य,कटाक्ष से आश्वस्त नहीं हैं.

इस महाकार्टून वेबसाइट पर किसी भी सामग्री से नाराज हैं, या सामान्य रूप से कोई अन्य आपत्ति है, तो कृपया अपने दृष्टिकोण और संपर्क विवरण के साथ हमसे संपर्क करें.हम महाकार्टून वेबसाइट आपकी चिंता को दूर करने का प्रयास करेंगे। । किसी भी तरह की शिकायत या किसी भी वजह से ईमेल करे :ironynews1@gmail.com

%d bloggers like this: